24 घंटे में जान ले सकती हैं ये बीमारियां

dangerous-diseases-effects-on-body-in-hindi

तेजी से बदलती हुई इस जिंदगी में हर चीज भी बहुत तेजी से हो रही है। आज के समय में कुछ एैसी बीमारियां इतनी खतरनाक हो चुंकी हैं कि वे 24 घंटे में इंसान की जान तक ले लेती है। इसलिए आपको इन बीमारियों के बारे में पता होना चाहिए जिससे आप समय रहते इन से बच सकें और एक स्वस्थ जीवन जी सकें। वैदिक वाटिका आपको बता रही है कुछ बीमारियों के बारे में जो बहुत ही खतरनाक हो सकती हैं।
24 घंटे में जान ले सकती हैं ये बीमारियां
चागस बीमारी
यह बीमारी बहुत ही खतरनाक और जानलेवा होती है। चागस रोग में इंसान के शरीर के अंदर खतरनाक कीड़े लग जाते हैं जो इंसान के पाचन क्रिया को खत्म कर देते हैं। समय पर इलाज ना मिलने से रोगी एक दिन से भी कम समय में आपनी जान गंवा
सकता है।

हैजा की बीमारी
सामान्य सी दिखने वाली यह बीमारी भी बहुत खतरनाक और जानलेवा होती है। हैजा रोग लगने से इंसान को दस्त और उल्टी बहुत ही अधिक मात्रा में लगती है। जिससे शरीर का पानी खत्म हो जाता है और इंसान की जान जा सकती है।

डेंगू
डेंगू को भी विश्व में जानलेवा बीमारियों में गिना जाना जाता है। मच्छर के काटने से होने वाली यह बीमारी इंसान के शरीर को बुखार से इतना कमजोर बना देती हे जिस वजह से इंसान का शरीर खत्म होने लग जाता है और समय पर इलान न मिलने से 24 घंटे से कम में इंसान जान से हाथ धो बैठता है।

हार्ट अटैक
दिल की सबसे खतरनाक बीमारी होती है हार्ट पर स्ट्रोक का पड़ना। इस रोग में शरीर  के अंदर खून का प्रभाव रूक जाता है और हार्ट व मस्तिष्क तक खून नहीं पहुंच पाता है और इंसान की जान जाने की संभावना बढ़ जाती है।

डी 68 एंटरोवायरस संक्रमण

डी 68 एंटरोवायरस संक्रमण जानलेवा रोग है। यह रोग शरीर के शवसन तंत्र में वायरल संक्रमण फैला देता है। जिससे इंसान कुछ ही समय में दम तोड़ देता है।

इबोला
यह एक रहस्यमयी बीमारी है। जिसका इलाज अभी तक पूरी तरह से सफल नहीं हो पाया है। इस बीमारी में इंसान के खून में थक्का नहीं बनता है। और खून पूरे शरीर में  फैलने के साथ अंगों को भी खराब कर देता है। और इंसान दम तोड़ देता है।

हमारा उद्देश्य आपको इन खतरनाक बीमारियों के बारे में जानकारी देना जिनसे आप सर्तक रहें और स्वस्थ जीवन जी सकें।

Loading...
डिसक्लेमर : वेदिकवाटिका में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी वेदिकवाटिका की नहीं है। वेदिकवाटिका में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।