कमर दर्द के लिए योगासन – मरिचिआसन आजमाएं

marichyasana-for-back-pain-in-hindi

मरिचिआसान योग के बारे में बहुत कम ही लोग जानते हैं। यह योगासन इंसान के शरीर के लिए अति लाभदायक है। खासतौर से उन लोगों के लिए जो कमर के दर्द से परेशान रहते हैं। कमर दर्द की समस्या एक आम समस्या बन गई है और इससे अधिकतर युवा लोग परेशान रहते हैं। जिसकी वजह है घंटों तक एक ही जगह पर काम करना और खानपान का ध्यान ना देना। एैसे में आपको यदि कमर के दर्द से बचना है तो योग का ये आसान आपको जल्दी राहत दे सकता है। साथ ही साथ आपके पूरे शरीर में भी उर्जा प्रभावित होती है। वैदिक वाटिका आपको बता रही है कैसे आप मरिचिआसन कर सकते हैं और इससे आपको और क्या.क्या फायदे मिल सकते हैं।

मरिचिआसन से दूर होगा कमर का दर्द
मरिचिआसन को करने का तरीका
सबसे पहले आप जमीन पर दरी या चटाई बिछा लें।
और अब आप अपने दोनों पैरों को को सामने की ओर सटा के फैला लें।
अब आप अपनी कमर और सिर को सीधा रखें और दोनों हाथों को बगलों में रखें।
इसके बाद एक पैर को उपर की तरफ मोड़ें। आपका पैर इस तरह से मुड़े जिससे कि आपका घुटना सीधा सीने को छुए।
दूसरा पैर एकदम सीधा होना चाहिए। जैसा कि चित्र में दिखाया गया है।

अब आप अपनी कमर के उपरी हिस्से को थोड़ा सा दबाकर  पैर की उल्टी दिशा की तरफ ले जाएं।
इसके बाद अपने दोनों हाथों से मुड़े हुए पैर को अच्छी तरह से जकड़ लें।
इस दौरान गहरी सांस लेते रहें। और कम से कम एक मिनट तक इस आसन में टिके रहें।
आप इस योगासन को पांच बार तक दोहरा सकते हैं।
एक तरफ से इस योग को करने के बाद आप फिर दूसरी  तरफ से भी इस आसन को करें।

आइये अब जानते हैं मरिचिआसन के फायदे
इस आसन को करने से तनाव खत्म होता है
कमर की मांसपेशियों में ताकत आती है। यानि कमर दर्द खत्म होता है
दिमाग शांत रहता है
दोनों हाथों की मांसपेशियों में मजबूती आती है
मासकि धर्म में होने वाला दर्द ठीक होता है
रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है।

अब जानते हैं मरिचिआसन आसन की सावधानियां
वे लोग इस आसन को ना करें जिन्हें माइग्रेन और ब्लडपे्रेशर की समस्या रहती हो।
इसके अलावा उन लोगों को भी यह आसन नहीं करना चाहिए जिनको अक्सर सिर दर्द रहता हो और जिनकी कमर पर चोट लगी हुई हो।
किसी भी योग को करने से पहले आप योग गुरू से जरूर सलाह लें।

Loading...
डिसक्लेमर : वेदिकवाटिका में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी वेदिकवाटिका की नहीं है। वेदिकवाटिका में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।